Web 3.0 क्या है? Web 3.0 के फीचर्स क्या है?

इस आर्टिकल में हम आज Web 3.0 के बारें में सारी जानकारी बताएँगे। Web 3.0 क्या है? Web 3.0 के फीचर्स क्या है?, जैसे की वेब 3.0 क्या है?, वेब 3.0 की विशेषताएं क्या है?, वेब 3.0 के फायदे क्या है?, वेब 3.0 कैसे काम करता है?, वेब 3.0 कब आएगा?, वेब 3.0 आने के बाद वेब 2.0, और वेब 2.0 का क्या होगा?, वेब 3.0 आने के बाद हमारा भविष्य क्या होगा?, यह सारे सवाल का जवाब है इस आर्टिकल में कवर करेंगे, तो कृपया आर्टिकल को पूरा पढ़िए।

1980 के आसपास वेब 1.0 आया था, और 2004 में 2.0 और वेब 3.0 भी आ चूका है, जबसे वेब 3.0 आया तबसे हमें इंटरनेट की दुनिया में काफी बदलाव देखने मिले आगे इसके बारें में हम जानेंगे इसके फीचर्स भी इस आर्टिकल में हम आज जानेंगे तो चलिए शुरू करते है।

Web 3.0 क्या है? Web 3.0 के फीचर्स क्या है?

Web 3.0 क्या है?

Web 3.0 यह पूरा Blockchain Technology पर आधारित है, और यह एक इंटरनेट की तीसरी पीढ़ी मानी जाती है। इसे decentralized web भी कहा जाता है, जिसमे हमें स्मार्ट ऍप्स, स्मार्ट टेक्नोलॉजी, स्मार्ट गैजेट, स्मार्ट रोबोट्स, यह टेक्नोलॉजी की दुनिया में सबकुछ स्मार्ट होगा web 3.0 आने से। इसमें decentralized ledger technology का भी ख्याल रखा जायेगा। यह ब्लॉकचैन पर चलता है इसलिए इसमें क्रिप्टोकोर्रेंसी की लेन देन भी शामिल है। इसमें आपको Artificial Intelligence (AI) की भी टेक्नोलॉजी नजर आएगी जो दुनिया बदल देने का डैम रखता है। (AI क्या है ?)

Web 3.0 के फीचर्स क्या है ? (Features of Web 3.0 )

Web 3.0 के कई सारे फीचर्स सामने आये है, जिसमे शामिल है –

Artificial Intelligence (AI) –

Artificial Intelligence एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिससे दुनिया में बहोत सारे बदलाव आ सकते है, और यहाँ दुनिया बदलने की ताकद रखता है। इसके द्वारा उपकरणों को सीखने और समझने की क्षमता प्रदान की जाती जाती है। AI Humans के दिमाग को पढ़ सकता है, और Humans के जैसा सोच सकता है, इसकी मदद से हम एक हूबहुब मानव जैसा इंटेलिजेंट रोबोट बना सकते है।

Blockchain technology

Blockchain technology यह एक ऐसी टेक्नोलॉजी है, जिसके कारन कोई भी डाटा सिक्योर रखा जा सकता है, मतलब की डाटा को अलग अलग जगह पर जैसे की किसी ब्लॉक्स में, नोड्स में और सर्वर में ऑनलाइन रखा जा सकता है। जिसके कारन जो हैकिंग प्रोब्लेम्स, डाटा खोने की प्रॉब्लम होती थी वह ख़तम हो जाएगी।

मतलब की यह एक डाटा और रिकार्ड्स सुरक्षित रखने की प्रणाली है। इसके कारन हमारा डाटा किसी कंपनी के पास नहीं रहेगा, और हैक और खोने से भी बचेगा। मतलब की ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के कारन हमारा डाटा हैक करना असंभव हो जायेगा। यह एक डिजिटल खाता बुक रहेगा जिसमे हमारा डाटा प्राइवेट, सुरक्षित और अलग अलग सर्वर पर रहेगा जिसके कारन डाटा खोना और चोरी होना असंभव हो जायेगा।

Machine Learning (ML)

Machine Learning यह एक Artificial Intelligence का ही प्रकार है। इसके वजह से कम्प्यूटर या फिर रोबोट्स अपने आप सिख सकेंगे मतलब कंप्यूटरों को खुद से learn करने की क्षमता प्रदान होगी। कंप्यूटर बिना इंसान के कोई भी काम कर सकेगा यह सब AI और ML की मदद से पॉसिबल होगा।

मशीन लर्निंग की मदद से मशीन भविष्यवाणी और महत्वपूर्ण निर्णय लेना भी आसान हो जायेगा। मशीन में कुछ खराबी भी हो तो वह अपने आप ठीक भी होजायेगी। मशीन लर्निंग की मदद से कम्प्यूटर्स और रोबोट्स मनुष्य की तरह सोचने और काम करने लगेंगे।

Decentralized

Decentralized technology पूरी तरह ब्लॉकचैन पर आधारित रहेगी। Decentralized के कारन कोई भी रिकार्ड्स और कोई भी डाटा किसी भी कंपनी या इंसान के पास नहीं रहेगा, यह पूरी तरह आपका डाटा सुरक्षित अलग अलग सर्वर में Decentralized करेगा और सेफ रखेगा, खोने से और हैक होने से बचाएगा, मतलब यह पूरी तरह ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पार आधारित रहेगा तो डाटा हैक करना भी असम्बव रहेगा क्योंकि सारा देता Decentralized रहेगा।

Other Features of Web 3.0

Enhanced connectivity

Semantic Web

3D and 4D Graphics

Trustless and Permissionless

Security

Improved data operations

Better search engine optimization

Improved data operations

Data is Distributed across users

Targeted advertising based on user behaviorNon-fungible

Read Write and Interact

Peer-to-Peer Network

Ubiquity

Virtual Reality (VR) and Augmented Reality (AR)

NFT (Non fungible tokens)

Tokenization

UI (user interface) And Service Layers

Cryptocurrency

यह सारे फीचर्स web 3.0 में आपको देखने मिलेंगे। इससे पता चलता है की web 3.0 काफी कुछ नया करने की कोशिश कर रहा है, इससे हमारी डेली लाइफ आसान, फ़ास्ट और सिक्योर हो जाएगी, इसमें Artificial Intelligence (AI) और Blockchain technology की बहोत चर्चा हो रही है।

वेब 3.0 क्यों महत्वपूर्ण है?

आज के इस वर्तमान काल में बच्चे से लेकर बूढ़ो तक मोबाइल का इस्तेमाल हो रहा है। इंटरनेट एक हमारी जिंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चूका है, इस वर्तमान काल में हमें इंटरनेट के बिना रहना नामुमकिन है। क्योंकि इंटरनेट की वजह से और अलग अलग टेक्नोलॉजी की वजह से हम घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन रिचार्ज, ऑनलाइन बिल भरना, ऑनलाइन घर बैठे दुनिया की किसी भी कोनेमे पैसे ट्रांसफर करना यह सिर्फ इंटरनेट के कारन ही मुमकिन हो पाया है।

लेकिन इसके कुछ फायदे के साथ साथ नुकसान भी है, जैसे कहते है ने हर सिक्के के दो पहलु होते है, वैसेही। ऑनलाइन फ्रॉड बढ़ता जारहा है, लोग हैकिंग करके किसीका भी पैसा गायब कर रहे है, और हैकर्स लोग आपकी जानकारी भी हैक करके बेच देते है, आपके फोटो या जानकारी का गलत फायदा उठाकर कई लोग पैसे छापते है।

तो इसके कारन Web 3.0 आया है जो Blockchain Technology पर आधारित है, बताया जा रहा है की जब Blockchain Technology पूरी तरह से दुनिया में आएगी तो यूजर का डेटा किसी क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर के पास जमा न होकर कई सारे नोड्स या ब्लॉक्स में जमा होगा, यह ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी की मदद से होगा, इसलिए कोई भी इसे हैक नहीं कर सकता, क्योंकि यह डाटा अलग अलग नोड्स और ब्लॉक्स में जमा रहेगा। Web 3.0 और Blockchain technology की मदद से हैकिंग करना नामुमकिन हो जायेगा।

Web 3.0 के लाभ क्या है ?

1 – Web 3.0 Decentralized रहेगा मतलब की हमारा डाटा किसी एक सरवर या कंप्यूटर में नहीं रहेगा, बल्कि दुनिया के सभी कंप्यूटर या नोड्स और ब्लॉक्स में spread रहेगा इसलिए हमारे डाटा को कोई हैक कर नहीं पाएगा और इस तरह से हमारा डाटा सिक्योर और सुरक्षित रहेगा।

2 – वेब 3.0 की वजह से बिना सर्वर का इंटरनेट भी चल सकेगा।

3 – इसके कारन सिक्योरिटी और भी ज्यादा बढ़ेगी।

4 – हमारा डाटा ब्लॉकचैन पर decentralized रहेगा, मतलब किसी कंपनी के पास हमारा डाटा नहीं रहेगा, और कोई हैक या हमारा डाटा बेच नहीं पायेगा।

5 – इसके कारन सबसे पड़ी परेशानी Data Leak की ख़तम हो जाएगी।

6 – Advanced technology बाजार में आएगी जैसी की Artificial Intelligence (AI) और Machin Learning (ML).

7. Web 3.0 ब्लॉकचैन पर आधारित रहेगा इसलिए, हमारा डाटा Decentralized रहेगा और हमारा डाटा अलग अलग नोड्स, ब्लॉक्स और सर्वर में रहेगा इसलिए डाटा खोने और मिटने की चिंता नहीं रहेगी।

क्या Web 3.0 मनुष्य का जीवन बदलेगा?

हाँ , इसमें कोई शक नहीं है, Web 3.0 के कारन मानवी जीवन में बहोत बदलेगा, और भी ज्यादा एडवांस हो जायेगा, नयी नयी टेक्नोलॉजी आएगी, कनेक्टिविटी अच्छी हो जाएगी, मनुष्य का जरुरी डाटा सुरक्षीत रहेगा, मनुष्य को कम काम करना पड़ेगा, मनुष्य के बहोत सारे कठिन काम आसान हो जायेंगे।

AI और ML की मदद से मनुष्य के बहोत सारे काम आसान हो जायेंगे।

और आपके सारे जरुरी फोटोज, और डॉक्युमेंट्स पर सिर्फ आपका हक़ रहेगा।

Web 3.0 के कारन मनुष्य ताकदवर बनेगा क्योंकि आप इंटरनेट पर कोई भी कंटेंट डालोगे या फिर अपलोड करोगे तो आपको उसके बदले एक टोकन मिलेगा, और उसका पूरा अधिकार आपके पास रहेगा। मतलब की Web 3.0 में गूगल, फेसबुक, ट्विटर, Instagram जैसी कोई भी कंपनी या वेबसाइट अपनी मर्जी से आपका कंटेंट नहीं हटा पाएगी।

Leave a Comment

%d bloggers like this: